vartabook.com : varta.tv

.

Facebook Par ugla huaa padhe - Charchamanch me

.

गुरुवार, 24 नवंबर 2011

कवि राजबुँदेली


है शॊषण का दिन-मान, और कितना,
लोगे सब्र का इम्तिहान, और कितना,
होना तो तय था कभी न कभी हादसा,
सहेगा यह आम इंसान, और कितना !!

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें

Read by Name